भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर बरसे राहुल गांधी, कहा- चीन ने भारत को धमकाने के लिए जुटाई साइबर फोर्स

अक्सर राहुल गांधी किसी ना किसी मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहते है चाहे वो नए कृषि कानूनों का मुद्दा हो या बजट, मंहगाई या फिर लद्दाख में चल रहे भारत-चीन विवाद का मुद्दा हो.

-Rahul Gandhi lashed out at the central government once again over the India-China border dispute- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार हमलावर रुख अपनाए हुए है. अक्सर राहुल गांधी किसी ना किसी मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहते है चाहे वो नए कृषि कानूनों का मुद्दा हो या बजट, मंहगाई या फिर लद्दाख में चल रहे भारत-चीन विवाद का मुद्दा हो. इसी बीच राहुल ने एक बार फिर भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर केंद्र सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया है.

उन्होंने एक मीडिया रिपोर्ट को रिट्वीट करते हुए लिखा है कि मेरे शब्दों को चिन्हित कर लिया जाए, चीन ने भारत को धमकी देने के लिए अपनी पारंपरिक और साइबर सेना जुटाई है, डेपसांग में इंडिया की जमीन चली गई है और डीबीओ (दौलत बेग ओल्डी) असुरक्षित है,केंद्र सरकार की कायरता भविष्य में दुखद परिणाम देगी.

दौलत बेग ओल्डी से यह 24 किलोमीटर दूर
मालूम हो कि राहुल गांधी ने जिस रिपोर्ट को ट्वीट किया उसमें कहा गया है कि सैटेलाइट तस्वीरों में पता चला है कि डेपसांग इलाके में चीन ने निर्माण किया गया है, ये एरिया दौलत बेग ओल्डी से यह 24 किलोमीटर दूर है. ऐसा कोई पहली बार नहीं है जब चीन को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है, वो लगातार इस मुद्दे पर सरकार पर वार कर रहे हैं. हाल ही में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के सामने खड़े नहीं हो पाए. देश की रक्षा करने की जिम्मेदारी उनकी थी, जिसमें वो विफल हुए हैं. सच्चाई ये है कि चीन के सामने पीएम मोदी टिक नहीं पाए और देश की जमीन उनको दे दी.

मोदी ने हिंदुस्तान की जमीन चीन को पकड़ाई
राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदुस्तान की जमीन चीन को पकड़ाई है यह सच्चाई है. मोदी जी इसका जवाब दें कि आखिर ऐसा क्यों किया? मोदी जी ने चीन के सामने सिर झुका दिया है. जो रणनीतिक क्षेत्र है जहां चीन अंदर आकर बैठा है उसके बारे में रक्षा मंत्री ने एक शब्द नहीं बोला. पीएम नरेंद्र मोदी एक कायर हैं जो चीन के सामने खड़े नहीं हो सकते. वे (पीएम मोदी) हमारी सेना के जवानों के बलिदान पर थूक रहे हैं. वे सेना के बलिदान को धोखा दे रहे हैं. सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री ने चीन को भारतीय क्षेत्र दिया है. जिसके लिए उनको देश को जवाब देना चाहिए.-Rahul Gandhi lashed out at the central government once again over the India-China border dispute-

पाकिस्तान में भी बना एक ताजमहल, बेगम की याद में शख्स ने बना दी प्यार की निशानी

ममता के गढ़ में सीएम योगी ने भरी हुंकार, बोले- जान की भीख मांगेंगे TMC के गुंडे