नीति आयोग की बैठक में किसी भी मुख्यमंत्री ने नहीं की कृषि कानूनों पर चर्चा: राजीव कुमार

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और सीईओ अमिताभ कांत ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि 6वीं गवर्निंग काउंसिल बैठक में 6 चीजों पर फोकस किया गया है, बैठक में केंद्र के कृषि कानूनों को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है.

-No Chief Minister discussed agriculture laws in NITI Aayog meeting: Rajiv Kumar- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज यानी शनिवार को दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की छठी बैठक हुई. ये बैठक करीब 7 घंटे चली. इस बैठक के खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और सीईओ अमिताभ कांत ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि 6वीं गवर्निंग काउंसिल बैठक में 6 चीजों पर फोकस किया गया है जिसमें भारत को एक विनिर्माण हब बनाना, कृषि में सुधार, भौतिक इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में सुधार, मानव संसाधन विकास में तेजी लाना, जमीनी स्‍तर पर सेवाएं उपलब्‍ध कराना और स्‍वास्‍थ्‍य-पोषण शामिल हैं. राजीव कुमार ने कहा कि बैठक में केंद्र के कृषि कानूनों को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है.

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर के प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को लेकर राजीव कुमार ने कहा कि केंद्र के कृषि कानूनों को हटाने को लेकर आज की बैठक में कोई चर्चा नहीं हुई. उन्‍होंने कहा कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय बजट को मिली सकरात्‍मक प्रतिक्रिया पर जोर दिया और कहा कि विकास के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए चौतरफा उत्‍सुकता है. उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकारों से निजी क्षेत्र को अवसर देने चाहिए. राजीव कुमार ने कहा कि अगली जनगणना डिजिटाइज़्ड होगी. उन्होंने कहा कि बैठक में किसी ने भी कृषि कानूनों पर बात नहीं की.

इन मुख्यमंत्रियों ने लिया गवर्निंग काउंसिल की छठवीं बैठक में हिस्सा
1- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
2- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल
3- बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
4- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
7- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
आपको बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शामिल नहीं हुए. पीटीआई-भाषा के मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह अस्वस्थ हैं. उनकी जगह पर बैठक में राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने हिस्सा लिया. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया. तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा था कि ममता बनर्जी 20 फरवरी को होने वाली नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होंगी. बता दें कि इससे पहले भी ममता बनर्जी नीति आयोग की बैठकों में शामिल नहीं हुई हैं. ममता बनर्जी का कहना है कि नीति आयोग के पास कोई वित्तीय शक्तियां नहीं हैं और यह राज्य की योजनाओं में कोई मदद नहीं दे सकती है.-No Chief Minister discussed agriculture laws in NITI Aayog meeting: Rajiv Kumar-

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एयरपोर्ट पर लैंडिंग के वक्त हुआ हादसा, पोल से टकराया एयर इंडिया का विमान

नए कृषि कानूनों को लेकर फिर प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, पीएम को बताया अहंकारी राजा