जानिए, क्या है कर्ड (Curd) और योगर्ट (Yogurt) का अंतर और इनके अलग-अलग फायदे !

क्या आप हमेशा कर्ड और योगर्ट के बारे में कन्फ्यूज्ड रहते हैं?चिंता न करें, क्युकी ऐसे कई लोग हैं जिनको कर्ड और योगर्ट का अंतर नहीं पता है।

क्या आप हमेशा कर्ड और योगर्ट के बारे में कन्फ्यूज्ड रहते हैं? लेकिन, चिंता न करें, क्युकी हम में से बहुत से लोग ऐसे हैं, जिनको कर्ड और योगर्ट का अंतर नहीं पता है। जब भी हम इन डेरी प्रोडक्ट्स के खरीदने जाते हैं तब हम सबके दिमाग में यह सवाल आता है की, इन दोनों में से ज़्यादा पौष्टिक कौन है और हमे इन दोनों में से किस प्रोडक्ट को खरीदना चाहिए।

इन दोनों के बारे में सबसे ज़्यादा कन्फ्यूज़न हमे विज्ञापनों और ब्रांड प्रचारों की वजह से होता है। हलाकि, कर्ड और योगर्ट में बहुत कम अंतर होता है। बस इन दोनों को तय्यर करने की विधि कुछ अलग होती है। आज के लेख में हम आपको इन दोनों के बीच के अंतर के बारे में बताएँगे।

कर्ड (Curd) और योगर्ट (Yogurt) का अंतर :

योगर्ट(Yogurt) ऐसे होता है तैयार-

योगर्ट (Yogurt) को कर्ड (Curd) के समान तकनीक का उपयोग करके तैयार किया जाता है। लेकिन दूध के फर्मेंटेशन को लैक्टोबैसिलस बल्गारिस और स्ट्रेप्टोकोकस थर्मोफिलस नामक बैक्टीरिया के दो स्पेसिफिक स्ट्रेंस को जोड़कर किया जाता है। लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया के अन्य स्ट्रेंस को भी जोड़ा जा सकता है। इन जीवाणुओं का जोड़ प्रोडक्ट को स्टैंडर्डाइज़्ड और हेमोजेनुस बनाता है। यह योगर्ट (Yogurt) में बैक्टीरिया की गुणवत्ता और सही मात्रा दोनों सुनिश्चित करता है। साथ ही, अधिक गुड बैक्टीरिया आंतों में जीवित हो जाते हैं।

कर्ड और योगर्ट का अंतर

योगर्ट (Yogurt) के स्वास्थ्य लाभ –

ग्रीक योगर्ट (Greek Yogurt) में प्रोटीन काफी भारी मात्रा है पाया जाती हैं जो आपकी कोर मांसपेशियों की ताकत के निर्माण और सुधार में मदद करता है। इसके अलावा , इन दोनों डेयरी प्रोडक्ट के स्वास्थ्य लाभों में एकमात्र अंतर यह है कि योगर्ट (Yogurt) में कर्ड (Curd) की तुलना में प्रोटीन की मात्रा दोगुनी होती है। इसलिए, जो लोग वजन कम कर रहे हैं, उनकी दैनिक प्रोटीन की जरूरतों को पूरा करने के लिए में यह मदद करता है। भरपूर हैल्थी बैक्टीरिया की उपस्थिति के कारण, योगर्ट (Yogurt) का दैनिक सेवन आपकी इम्युनिटी को बढ़ा देगा और बीमारियों को दूर रखेगा। योगर्ट (Yogurt) में गुड फैट भी पाया जाता हैं जो आपके ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

कर्ड (Curd) ऐसे होता है तैयार-

दूध को उबालने और ठंडा करने के बाद उसमे एक चम्मच दही डालकर उसे पूरा दिन छोड़ दिया जाता है उसके बाद कर्ड (Curd) तय्यर हो जाता है। दही में लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया या लैक्टोबैसिलस होता है। कर्ड (Curd) में कैल्शियम और प्रोटीन भारी मात्रा में पाए जाते है और जिनको लैक्टोज इन्टॉलरेंट है, यह उन लोगों के लिए भी सूटेबल है।

कर्ड और योगर्ट का अंतर

कर्ड (Curd) के स्वास्थ्य लाभ-

कर्ड (Curd) आपके पेट को ठंडा रखने में मदद करता है। कभी कभी कुछ खाद्य पदार्थों और मसालों द्वारा पेट में गर्मी पैदा हो जाती है, उस समय, कर्ड (Curd) पेट की गर्मी को दूर करने में सहायता करता है। हमारा पाचन तंत्र दही में मौजूद कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम और विटामिन बी 6 जैसे पोषक तत्वों को अच्छे से अब्सॉर्ब करता है। जिन लोगों को डिजेशन की तकलीफ रहती है उन लोगों को भी कर्ड (Curd) का सेवन करने की सलाह दी जाती है। कर्ड (Curd), इनडाइजेशन, कब्ज और एसिडिटी, आदि जैसी पेट की बीमारियों को रोकता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो एलर्जी को रोकते हैं।

 

आज के लेख में आपको कर्ड (Curd) और योगर्ट (Yogurt) का अंतर बताया है, हलाकि यह दोनों ही लाभकारी होते हैं। हमारे शरीर के सिस्टम के डेवलपमेंट के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स में मौजूद पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, यदि आपको लैक्टोज इन्टॉलरेंट हैं या अपना वजन घटाना चाहते हैं, तो आप कर्ड (Curd) या योगर्ट (Yogurt) को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

Leave a Comment