हैरान कर देने वाले है नीम के यह फायदे : Some Shocking Facts About Neem

नीम के फायदे, नीम के नुकसान, नीम क्या होता है, नीम के बारे में जानकारी, नीम का उपयोग कैसे किया जा सकता है, नीम के पौधे के अलग-अलग हिस्से के बारे में जानकारी

पेड़ों का हमारे ज़िंदगी में एक अलग ही महत्व होता है। इनमें से ही एक है नीम का पौधा, यह एक ऐसा पौधा है जिसका लगभग हर एक हिस्सा किसी ना किसी चीज के काम आता है।

फिर चाहे इसका पत्ता हो या छाल, बीज हो या फिर जड़, फूल हो या फल सभी के सभी दवाइयां बनाने के साथ-साथ घरेलू उपयोग में भी काम आते हैं।

नीम के पौधे की अलग-अलग हिस्सों की जानकारी:

1. नीम की पत्ती

नीम की पत्ती आंखों की कमी, नाक से खून आना, पेट के कीड़े मारना, पेट खराब होना, भूख न लगना, ह्रदय, खून संबंधी और त्वचा जैसे रोगों को ठीक करने में मदद करती है। इसके अलावा अगर बुखार, मधुमेह, दांतो में परेशानी हो या सूजन हो उसमें भी नीम की पत्तियां बहुत काम आती है। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल गर्भपात के लिए भी किया जा सकता है।

2. नीम का फूल

नीम के फूल का इस्तेमाल खांसी को रोकने, पेट का दर्द मे और उल्टी रोकने में मदद करता है। इसके अलावा यह पेट के कीड़े भी मारता है।

3. नीम का फल

नीम का फल आंतों के कीड़े मारता है, आंखों की रोशनी बढ़ाता है, मधुमेह यानी शुगर को कम करता है, चोट को जल्दी भरता है और बवासीर भी ठीक करता है।

4. नीम के बीज

नीम के बीज का तेल बनाया जाता है, जोकि पेट के कीड़ों को खत्म करता है इसके अलावा यह जन्म नियंत्रण में भी काम आता है।

5. नीम की छाल

नीम के छाल का इस्तेमाल मलेरिया को दूर करने में किया जाता है।

6. नीम का तना और जड़

नीम के तने से और जड़ से तरह के टॉनिक बनाए जाते हैं। कुछ लोग नीम की पत्तियों को सिर पर जूं मारने के लिए और त्वचा रोग के लिए लगाते हैं।

कैसे करें उपयोग:

1. दांतो का दर्द

मसूड़ों में सूजन होने पर नीम के पत्तों को पीसकर जेल बनाकर उसे अपने मसूड़ों पर लगाने से या फिर माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करने से मसूड़ों की सूजन कम की जा सकती है।

2. मारे जू

जू को मारने के लिए नीम एक बहुत ही अच्छी और प्रभावशाली चीज है। जू होने पर नीम की पत्तियों को पीसकर सिर पर लगाने से एक ही बार में बच्चे की सिर की सारी जू मर जाती हैं।

3. स्किन के लिये है बढिया

यह हमारी स्किन के लिये बहुत बढिया होता है। इसको फेस्मास्क के तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। खुजली वाली स्किन पर नीम का पेस्ट लगाने से त्वचा ठीक हो जाती है।

4. माउथवॉश की तरह भी करते है इस्तेमाल

नीम की नीम के तने को दातुन की तरह इस्तेमाल भी किया जा सकता है। पुराने जमाने के लोग इसको दातुन की तरह इस्तेमाल करते हुए आए हैं और इसके जेल से माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करते आए हैं।

5. अन्य बिमारियो का इलाज़

इसके अलावा नीम से कई तरह की दवाई बनाई जाती हैं। इससे जन्म नियंत्रण भी किया जाता है, सांस लेने की परेशानी दूर की जाती हैं और अगर मधुमेह ठीक की जाती है इसके अलावा बुखार दिल की बीमारी खाना पचाना मलेरिया और स्किन के बहुत सी बीमारियां भी ठीक की जाती हैं।

नीम के साइड इफेक्ट्स और सुरक्षा:

  • नीम को मुंह में डालते टाइम ध्यान रखा जाए कि नीम ज़्यादा पुराना हो क्योकि ज़्यादा समय पुराना नीम जहरीला हो सकता है और 10 साल से छोटे बच्चे के मुंह में नीम नहीं डालना चाहिए।
  • यदि कोई बड़ा दांतों की समस्या के लिए नीम का इस्तेमाल दातुन की तरह करता है तो कोई परेशानी नहीं है।
  • हालांकि नीम को मुंह में डालने से कोई परेशानी नहीं होती, लेकिन इसको बहुत देर तक मुंह में डाला जाए तो यह हमारे लिए असुरक्षित हो सकता है और हमारे शरीर के अंदर के हिस्सों जैसे फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • छोटे बच्चों के नीम का तेल नहीं लगाना चाहिए नीम का तेल उनके लिए अनसेफ हो सकता है।

Leave a Comment