Causes And Symptoms Of Migraine : माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स !

आज के लेख में हम आपको माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स के बारे में बताएँगे, जिन्हे जानने के बाद आप सही समय पर इसका इलाज कर पाएंगे।

माइग्रेन, दिमाग में एक स्पेसिफिक बदलाव की वजह से होने वाला सिरदर्द है। यह एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से आपको गंभीर सिरदर्द का सामना करना पड़ जाता है। हलाकि, हर तरह का सिरदर्द माइग्रेन सिरदर्द नहीं होता है। जिस समय आपको माइग्रेन का सिरदर्द होता है उस समय आपको हलकी फुलकी मतली या चक्कर भी महसूस हो सकता है। माइग्रेन के कारण होने वाला दर्द कई घंटों तक और कभी-कभी कई दिनों तक भी रह सकता है। यह बीमारी बचपन या टीनऐज के दौरान शुरू होती है। इसके अलावा, जेनेटिक रीज़न, हार्मोनल चैंजेस, आदि की वजह से यह बीमारी भी आपको हो सकती है। कई सारी रेसर्चेस से पता चला है की, पुरुषों की तुलना में महिलाओं को माइग्रेन का खतरा ज़्यादा होता है। आज के लेख में हम आपको माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स के बारे में बताएँगे, जिन्हे जानने के बाद आप सही समय पर इसका इलाज कर पाएंगे।

यह रहे माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स :

सिम्पटम्स –

  • बार बार लो और दुखी महसूस करना भी,  माइग्रेन का एक इम्पोर्टेन्ट सिम्प्टम है। अगर आप भी लो महसूस करने लगते हैं और उसकी वजह से आपके सर में भयानक दर्द उठने लगता है, तो आपको माइग्रेन हो सकता है। इसके अलावा, चक्कर और मतली माइग्रेन के कॉमन सिम्पटम्स है।
  • माइग्रेन का सिरदर्द उनके साथ अत्यधिक भूख से मिलता है, भले ही आपने एक घंटे पहले भोजन किया हो। सामान्य सिरदर्द में, भूख हमारी प्राथमिकता सूची में नहीं है। लेकिन अगर आपको अपने बुरे सिरदर्द के साथ अत्यधिक भूख का अनुभव होता है, तो संभावना है कि यह माइग्रेन हो सकता है।
  • जब किसी को माइग्रेन की बीमारी होती है, तो उसको बार बार भूक का एहसास होता है और साथ में सरदर्द भी महसूस होता है। अगर आपको भारी सिरदर्द के साथ बहुत भूक का एहसास हो रहा है, तो आपको माइग्रेन होने की काफी चांसेज़ हैं।
  • माइग्रेन का सिरदर्द अक्सर तेज रोशनी और तेज आवाज की वजह से ज़्यादा बढ़ जाता है। इसलिए, अगर आपका सिरदर्द भी तेज रोशनी और तेज आवाज की वजह से बढ़ जाता है, तो आप तुरंत अपना चेकअप करवाएं।

माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स

कॉज़ेज़ –

  • ख़राब लाइफस्टाइल की वजह से आपको माइग्रेन की बीमारी हो सकती है। सही समय से खाना न खाना, गलत खान-पान, शराब या सिगरेट का बहुत ज़्यादा सेवन, आदि की वजह से आपको माइग्रेन हो सकता है।
  • नर्वस डिसऑर्डर भी माइग्रेन की वजह बन सकता है। अगर आप पहले से, नर्वस डिसऑर्डर से पीड़ित हैं, तो आपको माइग्रेन की बीमारी होने के कई चांसेज़ हैं।
  • अगर आपको किसी तरह की बड़ी बीमारी है और आपकी दवाएं चल रही हैं, तो इसकी वजह से भी आपको माइग्रेन की बीमारी हो सकती है। कभी-कभी कुछ दवाओं की केमिकल कम्पोजीशन शरीर के साथ अच्छी तरह से मेल नहीं खाता है, जिसकी वजह से माइग्रेन हो सकता है। गर्भ निरोधक दवाएं भी अक्सर माइग्रेन को बढ़ा सकती हैं।
  • कुछ एनवायर्नमेंटल फैक्टर्स भी होते हैं, जो माइग्रेन की बीमारी की वजह बन सकते हैं। इनमें हाई तापमान, हाई लाइट, हाई ह्यूमिडिटी लेवल, लगातार मौसम का बदलाव, आदि जैसे फैक्टर्स शामिल हैं।

माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स

ये भी पढ़ें - 7 दिन में वज़न घटाने के लिए करें इन 3 सबसे प्रभावी टिप्स को फॉलो !

हमने आपको माइग्रेन के कॉज़ेज़ और सिम्पटम्स के बारे में बताया है, अगर बताए गए सिम्पटम्स में से आपको कोई भी सिम्प्टम का एहसास होता है, तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें।

ये भी पढ़ें - Power Yoga Benefits: पावर योगा के लाभ, आप भी जानकर रह जाएंगे हैरान !

ये भी पढ़ें - जांघों के मोटापे को कम करने के लिए व्यायाम

ये भी पढ़ें - Right time to drink Green Tea hindi : अगर सही टाइम पर पियोगे ग्रीन टी तो फटाफट घट जाएगी ज़िद्दी चर्बी

Leave a Comment