इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम करने में इस तरह करती है मदद !

आज के लेख में हम आपको बताएँगे की किस तरह इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम करने में मदद करती है और इसे किस तरह से फॉलो किया जा सकता है।

आज के समय में कई तरह के डाइट प्लान और एक्सरसाइजेज मौजूद हैं जिन्हे अपनाकर कोई भी हेल्थी जीवन जी सकता है। इन्ही डाइट प्लान्स में से एक है इंटरमिटेंट फास्टिंग जिसे हाल के दिनों में हेल्थी रहने वाले लोगों द्वारा पसंद किया जा रहा है। इंटरमिटेंट फास्टिंग एक ऐसी डाइट है जिसमे आपको सभी फूड्स खाने की इजाज़त होती है, लेकिन इसमें खाने की समय सीमा को सीमित कर दिया जाता है। उदहारण के लिए, अगर आप आप सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक या 11 बजे से शाम 7 बजे तक या दोपहर 12 बजे से रात 8 बजे तक एक चक्र चुनते हैं, तो इसका मतलब है कि, आप 6 से 8 घंटे के गैप में भोजन कर रहे हैं और इसी तरह 14 से 16 घंटों तक आप फ़ास्ट रख लेते हैं। आज के लेख में हम आपको बताएँगे की किस तरह इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम करने में मदद करती है और इसे किस तरह से फॉलो किया जा सकता है।

इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम करने में कैसे मदद करती है ?

इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि, जब आप इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं, तब आप एक छोटी पीरियड के दौरान अपने शरीर की ज़रूरत के हिसाब से खाना खाते हैं। इसमें आप छह से आठ घंटे के दौरान भोजन करते हैं और 14 से 16 घंटे आपकी फास्टिंग होती है। कई रिसर्चेस के दौरान ये पता चला है कि, इंटरमिटेंट फास्टिंग वजन को कम करने में मदद कर सकता है। कई अलग-अलग रिसर्चेस में पाया गया है कि, इंटरमिटेंट फास्टिंग करने वाले लोगों ने औसतन 10-सप्ताह की अवधि में 10 पाउंड वज़न कम किया है।

कई तरह की होती हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग :

इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम

  • 12 घंटे की फास्टिंग- ये सबसे आसान फास्टिंग होती है, इसमें आपको हर दिन 12 घंटे का फ़ास्ट करना होता है। जो लोग इस फास्टिंग तकनीक को अपनाते हैं वो अक्सर लोग रात के समय फ़ास्ट करते हैं। 12 घंटे की फास्टिंग करने के लिए आप आप शाम 7 बजे से लेकर बह 7 बजे तक फास्टिंग कर सकते हैं।
  • 16/8 मेथड-  16/8 मेथड में नाश्ते को छोड़ना और खाने की अवधि को 8 घंटे तक सीमित रखना शामिल होता है। इस मेथड में आप अपनी डाइट में दो, तीन, या उससे अधिक मील जोड़ सकते है। हलाकि, आपको अपनी कैलोरी के सेवन पर ज़्यादा ध्यान रखना पड़ेगा।
  • अलटरनेट दिन की फास्टिंग – इस फास्टिंग में आपको हर दूसरे दिन फ़ास्ट रखना पड़ेगा। हलाकि, अगर आप कोई पुरानी और गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, तो यह फास्टिंग आपके लिए सही नहीं है।

इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम

हमने आपको बताया है कि, इंटरमिटेंट फास्टिंग वज़न कम करने में किस तरह से मदद कर सकता है और कितनी तरह की इंटरमिटेंट फास्टिंग होती हैं, हलाकि यह तकनीक वज़न कम करने में तो मदद कर सकती हैं लेकिन इसे अपनाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से ज़रूर  कंसल्ट कर लें।